SIP क्या है, सिप के फायदे – SIP Kya Hai

5/5 - (2 votes)

SIP क्या है? SIP का Full Form In Hindi

SIP का Full Form है Systematic Investment Plan जिसका हिंदी मे अर्थ होता है व्यवस्थित निवेश योजना (SIP). सिप यह एक निवेश योजना है जो आपको ज्यादा समय के लिए एक निश्चित राशि को निवेश करने की आपको अनुमति देती है।

SIP या सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान शेयर बाजार में निवेश करने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है। अधिकांश सिप (SIP) म्यूचुअल फंड, स्टॉक, बॉन्ड और अन्य निवेशों में निवेश करने के लिए बनाये गए हैं। यह योजनाएं निवेशकों को विस्तारित अवधि में धन बनाने में मदद करने के लिए हैं।

SIP kya Hota Hai

What is SIP Top-up in Hindi?

SIP टॉप-अप एक ऐसी सुविधा है जिसमें निवेशक जिसने Systematic Investment Plan (SIP) मे निवेश किया है वह एक समय बाद अपने एसआईपी के किश्त मे बढ़ोत्रि कर सकता है।

SIP टॉप-अप यह SIP निवेश को अधिक लचीला बनाता है जिसमे सिप के समय मर्यादा के दौरान निवेशक अधिक मात्रा मे निवेश कर सकता है।

उदा. राजेश नाम का व्यक्ति अपने Retirement Plan के लिए SIP शुरू करना चाहता है। वह एक मिड-कैप फंड मे पचीस साल के लिए 25000 रुपए मासिक एसआईपी शुरू करते है और लगभग 11% Return रिटर्न की उम्मीद करता है।

मतलब राजेश ₹25,000 मासिक निवेश के साथ पच्चीस साल मे 75 लाख का निवेश करता है और उसपे 11% के हिसाब से वह 3.22 करोड़ रुपए की रकम बनाता है।

अगर राजेश अपनी के SIP मे हर साल 10% का Top-up करने का फैसला करता है तो क्या होगा?

वह 2.95 करोड़ के निवेश के मुकाबले लगभग 5.87 करोड़ रुपये की रकम बना सकते हैं। इसका मतलब है कि मासिक SIP मुल्य को हर साल केवल 10% बढ़ाकर 3 करोड़ रुपये से अधिक का अतिरिक्त रकम बनाया जाता है।

(नोट: 25,000 रुपये की मासिक SIP पर 10% टॉप-अप राशि का मतलब है कि हर साल राशि में 2,500 रुपये की बढत होगी। उदाहरण के लिए – पहले साल 27500 रुपये, दूसरे साल 30,000 रुपये, तीसरे साल 32,500 रुपये और इसी तरह…)

संबंधित लेख: Mutual Fund क्या है

SIP कैसे काम करते है | How SIP Work In Hindi

SIP यह म्यूचुअल फंड मे निवेश करने का एक तरीका है जिसमे निश्चित समय को निश्चित राशि का निवेश किया जाता है।

एस आई पी को ऑटोमेटिक भी किया जा सकता है जिसमें महीने के किसी ठाराविक तारीख के दिन बैंक से एक निश्चित रकम ट्रांसफर हो जाती है।

आपने मासिक एसआईपी में एक विशेष राशि का निवेश किया है और हर महीने की 10 तारीख को अपनी कटौती की तारीख को तय कर दिया है। तो, चयनित म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए यह राशि हर महीने की 10 तारीख को आपके बैंक खाते से अपने आप कट जाएगी ।

अगर आप लंबे समय तक SIP मे निवेश करते है तो आप बाजार के उतार-चढ़ाव के समय भी निवेश करते है जिससे आपको बाजार को समजने के लिए अतिरिक्त समय देने की जरूरत नही होती।

सिप के फायदे | Benefits Of SIP In Hindi

कंपाउंडिंग की शक्ति: अल्बर्ट आइंस्टाइन ने कंपाउंडिंग को दुनिया का आठवां अजूबा कहा है। क्या आपको पता है, दुनिया के सबसे बडे निवेशक वारेन बुफेट ने अपनी आधी से ज्यादा की संपति अपने 50 साल के बाद बनाई थी।

अब आपको यह सवाल आया होगा की Compounding क्या है? तो बता दे की चक्रवृद्धि ब्याज वह ब्याज है जो आपको आपके निवेश पर पैसे बनाने के साथ-साथ आपको ब्याज पर भी पैसे बनाकर देता है। मतलब आप अपने निवेश से मिलनेवाले ब्याज पर भी पैसा कमाते हो।

Compunding मे पैसा बनाने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा समय देना होता है। इसका मतलब है कि आप जितना अधिक समय तक अपना पैसा निवेश करेंगे, आपको उतना ही अधिक ब्याज मिलेगा। 

कम निवेश: SIP यह Mutual Fund मे निवेश करने के लिए सबसे आसान तथा सुविधाजनक तरीका है। एस आई पी मे निवेश शुरू करने के लिए बहुत ही कम राशि की आवश्यकता होती है जिसे आप ₹500 प्रति माह से भी शुरू कर सकते हैं।

अधिक रिटर्न: सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान मे मिलनेवाला रिटर्न यह हमेशा RD और FD के मुकाबले ज्यादा रहता है।

लचीलापन: सिप मे आप नुकसान के बिना अपने कुछ पैसे निकाल सकते हो। SIP मे किया गया निवेश निवेश काफी लचीली होती है: इसे बढ़ाया या घटाया जा सकता है।

तनाव मुक्त: SIP के जरिये म्यूचुअल फंड मे निवेश करना काफी आसान है, जिन व्यक्तियोंको निवेश के बारे मे कुछ जानकारी नही उन यक्तिओंके लिए SIP के जरिये Muntual Fund मे निवेश करना काफी आसान है जिसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। निश्चित समय बाद SIP मे अपने कुछ निश्चित राशी अपने बैंक से पैसे निकल जाती है।

रुपये की औसत लागत: बाजार हमेशा उपर-नीचे होता रहता है। कभी हमे मंदी देखने को मिलती है तो कभी हमे बाजार मे तेजी देखने को मिलती है। जब बाजार मंदी मे होता है तब आप अपने निवेश पर अधिक यूनिट खरीद सकते है और जब मार्केट उपर होता है तब आप कम यूनिट खरीदते हो। इस तरह से आपके सिप निवेश औसत हो जाती है।

SIP में निवेश कैसे करें?

वित्तीय और निवेश लक्ष्य बनाये: सबसे पहले आपको अपने निवेश लक्ष्य को बनाने की जरूरत होगी आप कितना राशि तक SIP का निवेश करना चाहते हो यह निर्धारित करे।

SIP शुरू करने अपने Long Term, Mid और Short Term लक्ष्य को निश्चित करले। और अपने लक्ष्य के अनुसार SIP में निवेश करना शुरू करें।

एस आई पी मे यदि निवेश पर ज्यादा रिटर्न चाहिए तो आपको लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए।

सही म्यूचुअल फंड का चुनाव करे: अपने वित्तीय लक्ष्य को देखकर सही SIP का चुनाव करना चाहिए उसके लिए आप कई Systematic Investment Plan की तुलना कर सकते है और सबसे बढिया सिप को चुन सकते है।

वित्तीय संस्थान से संपर्क करें: अपने अनुरूप SIP मे निवेश करने के लिए और उससे संबंधित जानकारी के लिए वित्तीय कंपनी से संपर्क करे।

निवेश करना: अब आपका SIP से जुडी सभी शोध और जानकारी पुरी हो जाने के बाद अब आप अपने पसंदीदा SIP मे निवेश शुरू कर सकते है।

इस प्रक्रिया को और सरल बनाने के लिए आप ऑनलाइन डीमैट अकाउंट की मदद से भी SIP शुरू कर सकते हैं।

Documents for SIP in Hindi

एसआईपी में निवेश के लिए कुछ डॉक्यूमेंट जरुरी होते हैं।इनमें

आधार कार्ड

पैन कार्ड

बैंक अकाउंट

बैंक स्टेटमेंट

पासपोर्ट साइज फोटो

चेक बुक

सारे डॉक्यूमेंट होने पर आसानी से sip में निवेश किया जा सकता है, ऑनलाइन एप्लीकेशन के जरिए या वेबसाइट के जरिए अकाउंट बना कर sip मे निवेश किया जा सकता हैं।

इन डॉक्युमेंट्स के जरिए डीमेट अकाउंट आसानी से ओपन किया जा सकता है। म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए केवाईसी की प्रक्रिया करवाना जरुरी है। बिना केवाईसी के निवेश नहीं किया जा सकता है। केवाईसी में डेट ऑफ़ बर्थ, नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, एड्रेस प्रूफ, बैंक डिटेल्स जैसी जानकारी दर्ज होती है।

(केवाईसी प्रक्रिया को ऑनलाइन या ऑफलाइन भी कर सकते हैं)

FAQ: SIP Kya Hai?

  1. SIP का Full Form और Meaning

    S.I.P का फुल फॉर्म Systematic Investment Plan जिसका हिंदी मे अर्थ होता है व्यवस्थित निवेश योजना (SIP)

  2. क्या एस आय पी FD से बेहतर है?

    टैक्स सेविंग के साथ-साथ वेल्थ क्रिएशन दोनों पहलुओं में एसआईपी एफडी से बेहतर है। व्यवस्थित निवेश आपको टैक्स बचाने में मदद करता है, खासकर जब आप एक वेतनभोगी व्यक्ति हैं।

    FD एक फिक्स्ड डिपॉजिट यह कम जोखिम वाला निवेश विकल्प है। जो आपके बचत खाते की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करता है। लेकिन म्यूचुअल फंड से की तुलना मे कम ही व्याज देता है।

  3. क्या मैं व्यवस्थित निवेश योजना (SIP) में पैसा खो सकता हूं?

    हाँ, आप एसआईपी में पैसा तभी खो सकते हैं जब आप निवेश करने के लिए खुद को अनुशासित नहीं करते हैं या मार्केट नीचे आ जाए। मान लीजिए कि आप अगले पांच साल तक हर महीने 10,000 रुपये निवेश करने का फैसला करते हैं। उस अवधि के दौरान शेयर बाजार दुर्घटनाग्रस्त हो सकता है, और आपके 10,000 रुपये उतने स्टॉक नहीं खरीद पाएंगे, जब आपने शुरुआत की थी।

  4. क्या मैं कभी भी व्यवस्थित निवेश योजना से पैसे वापस ले सकता हूं?

    हाँ, आप जब चाहें अपने एसआईपी से पैसे निकाल सकते हैं, लेकिन आपको Withdraw करते समय अपने लाभ का कुछ हिस्सा आयकर (Tax) के रूप देना होगा।

  5. क्या Systematic Investment Plan (SIP) कर मुक्त है?

    नही, SIP मे आपके निवेश पर होनेवाले लाभ पर आपको कर देना होता है।

  6. व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी) जोखिम मुक्त हैं?

    एसआईपी जोखिम मुक्त नहीं हैं। वे उतने ही सुरक्षित हैं जितना आप उन्हें बनाते हैं। यदि आप किसी ऐसे फंड में निवेश करते हैं जो स्टॉक में भारी है और बाजार गिर जाता है, तो आप बहुत सारा पैसा खो सकते हैं। हालांकि, यदि आप किसी ऐसे फंड में निवेश करते हैं जो मुख्य रूप से बॉन्ड और गिल्ट में है, और बाजार गिरता है, तो बॉन्ड में ब्याज कूपन की सुरक्षा के कारण आपको कम नुकसान होगा।

  7. व्यवस्थित निवेश योजना (SIP) की ब्याज दर क्या है?

    SIP मे अलग-अलग म्यूचुअल फंडों के लिए व्याज दर अलग हो सकते है। जैसे लार्ज कैप फंड मे 12-18% के औसत रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है, मिड कैप इक्विटी से 14-17% के रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है।

  8. Systematic Investment Plan (SIP) के लिए न्यूनतम अवधि क्या है?

    ५ साल; अधिकांश विशेषज्ञों द्वारा SIP निवेश के माध्यम से धन बनाने के लिए कम से कम 5 साल के कार्यकाल की सिफारिश की जाती है।

व्यवस्थित निवेश योजना (Conclusion)

यदि आप कुछ समय से स्टॉक, म्यूचुअल फंड आदि में निवेश कर रहे हैं, तो संभावना है कि आप टर्म सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) से परिचित हो गए हैं।

लेकिन यह वास्तव में है क्या? SIP नियमित अंतराल पर एक निश्चित राशि का निवेश करने का एक तरीका है। सीधे शब्दों में कहें तो, आप एकमुश्त राशि का निवेश करने के बजाय नियमित अंतराल पर एक निश्चित राशि का निवेश करते हैं।

यह आपके पैसे का निवेश करने का एक प्रभावी तरीका है और एक बार में निवेश करने से बहुत बेहतर है। निवेशक कम से कम 500 रुपये प्रति माह के लिए एसआईपी शुरू कर सकता है।

इस तरह, आप व्यवस्थित और लगातार निवेश करने में सक्षम होंगे। SIP आपके लिए अपना रिटायरमेंट कॉर्पस बनाने का एक शानदार तरीका है।

SIP एक व्यवस्थित निवेश योजना है जो एक म्यूचुअल फंड योजना का एक हिस्सा है। यह निवेशक को नियमित अंतराल पर छोटी रकम का निवेश करने की अनुमति देता है।

हम आशा करते है की सिप क्या है, sip kya hota hai आपको समझ आया होगा। Systematic Investment Plan से संबंधित जो भी सवाल हो आप हमें Comment कर सकते है।

धन्यवाद!

Leave a Comment

%d bloggers like this: